CHEHRE

यह चेहरे ही हैं जो कि पहचान है तेरी मेरी ,
यह तेरा चेहरा यह मेरा चेहरा है ,
यह इसका चेहरा वो उसका चेहरा है ,
कौन जानता इंसानों को इस चेहरों की दुनिया में ,
यहाँ तो सिर्फ यह चेहरे ही हैं जो कि पहचान है तेरी मेरी।

यह चेहरे ही नाम हैं यह चेहरे ही बदनाम हैं ,
यह चेहरे ही बादशाह यह चेहरे ही ग़ुलाम हैं ,
यहाँ चेहरे ही लिखते हैं औक़ात सभी की ,
यह चेहरे ही तोहमत हैं यह चेहरे ही सलाम हैं ,
यह चेहरे कुछ खिले-खिले से , यह चेहरे कुछ बुझे-बुझे से ,
कौन जानता क्या हस्ती है किसी की ,
यहाँ तो सिर्फ यह चेहरे ही हैं जो कि पहचान है तेरी मेरी।

यह चेहरे ही अपने हैं यह चेहरे ही पराये हैं ,
यह चेहरे ही प्यार यह चेहरे ही नफरत के साये हैं ,
जानता हूँ मेरी दुनिया में तेरे चेहरे का चाहवान ना कोई ,
सुना है तेरी दुनिया में भी मेरे चेहरे की पहचान ना कोई ,
तो चल आज एक सौदा करते हैं ,
आज से तू मेरा चेहरा लेले मुझे अपना चेहरा देदे ,
ले आज से तेरी दुनिया मेरी और मेरी दुनिया तेरी हुई ,
क्यूँकि कौन समझता है यहाँ दिल किसी का ,
यहाँ तो सिर्फ यह चेहरे ही हैं जो कि पहचान है तेरी मेरी ।।

No comments:

Post a comment

Thanks for your valuable time and support. (Arun Badgal)

Follow by Email-desc:Subscribe for Free to get all our newest content directly into your inbox.